अपना घर में निराश्रित बच्चों का हुआ स्वास्थ्य परीक्षण.

Category : मध्यप्रदेश | Sub Category : सभी Posted on 2021-02-15 06:08:02


अपना घर में निराश्रित बच्चों का हुआ स्वास्थ्य परीक्षण.

अपना घर में निराश्रित बच्चों का हुआ स्वास्थ्य परीक्षण.
- निशुल्क जांच और दवाएं भी मिली
- रेड क्रॉस अस्पताल के विशेषज्ञ चिकित्सक और सहयोगी स्टाफ पहुंचा बाल निकेतन
- स्वास्थ्य परीक्षण के साथ जांच और एक्सरे भी हुए फ्री.
भोपाल.  मध्य प्रदेश रेडक्रॉस ने एक और मानवीय सेवा की पहल करते हुए सोमवार 15 फरवरी को शहर के बाल निकेतन में स्वास्थ्य शिविर लगाया. निराश्रित बच्चों के सेहत का जिम्मा उठाते हुए उनके लिये हर माह लगने वाले स्वास्थ्य शिविर का पहला शिविर आयोजित हुआ. शिविर सुबह 10 बजे शुरु हुआ जिसमें रेडक्रॉस अस्पताल के 6 विशेषज्ञ डॉक्टर की टीम ने बच्चों का हेल्थ चैक अप किया, फिर जरूरी दवाएं दी. दो बच्चों को एक्सरे जांच के लिये अस्पताल भी भेजा गया, जहां उनकी फ्री में जांच की जाएगी.
बाल निकेतन में रह रहे बच्चों को जब पता चला कि रेड क्रॉस अस्पताल के बड़े-बड़े डॉक्टर उनको देखने बाल निकेतन में ही आये हैं, तो बच्चे लाइन लगाकर अपनी बारी का इंतजार करने लगे. संस्था के हॉल को मिनी अस्पताल में ही परिवर्तित कर दिया गया था. जिसमें रजिस्ट्रेशन के साथ ही बच्चों की समस्या के अनुसार स्त्री रोग विशेषज्ञ, नाक कान गला विशेषज्ञ, त्वचा रोग विशेषज्ञ, शिशु रोग विशेषज्ञ, नेत्र रोग विशेषज्ञ और एमडी मेडिसिन के पास भेजा जा रहा था. डॉक्टर्स को दिखाने के बाद बच्चों को निशुल्क दवाएं दी जा रही थी. मिक्षा और एक अन्य बच्चे को एक्सरे जांच के लिये रेड क्रास अस्पताल भी भेजा गया.
अपना घर ही बना अस्पताल.  63 बच्चों का हुआ स्वास्थ्य परीक्षण
 रेड क्रॉस अस्पताल की टीम ने अपना घर में 63 बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण किया. जिनमें 19 लड़के और 44 लड़कियां शामिल थी. स्वास्थ्य परीक्षण सुबह 10 बजे से शुरु हो गया. शिविर में पहले बच्चे का वजन चैक किया गया. रेड क्रॉस की टीम के ने जिस सेवा भाव से सभी की मेकअप कर दवाएं दी उसे देखकर बच्चों और अपना घर के प्रबंधन के चहरों पर खुशी देखते ही बन रही थी.
बाहर नहीं जाना पड़ेगा
बाल निकेतन में रहने वाली अंजली कैंप में दिखाने के बाद बहुत खुश नजर आई. अंजली को जब पता चला कि अब हर महीने इसी तरह से सभी स्पेशलिस्ट डॉक्टर्स और मेडिकल स्टाफ आयेगा, तो उसने रेड क्रास के प्रबंधन को बहुत धन्यवाद दिया. वही बाल निकेतन में रह रहे 12 वीं के छात्र सलमान ने रेड क्रस के चेयमेन श्री आशुतोष पुरोहित के इस पुनीत प्रयास के लिये आश्रम के सारे बच्चों की ओर से थैंक्स कहा. बच्चों ने उम्मीद जताई कि हर महीने लगने वाले कैंप की वजह से सभी बच्चे स्वस्थ रहेंगे.
हर माह होगा आयोजन
रैंडक्रॉस मध्य प्रदेश की जनरल सेक्रेटरी डॉ. प्रार्थना जोशी ने बताया कि टीम में 6 अलग अलग विशेषज्ञ डॉक्टर, जिनमें डॉ अमित वर्मा (एमडी), डॉ अनिमेष अग्रवाल (ईएनटी), डॉ विनिता पाठक (स्त्री रोग), डॉ पी सी व्यास (नेत्र), डॉ मनीष राठौर (चर्म रोग), डॉ डी के मंजल (शिशु रोग) मौजूद थे. डॉक्टर्स के अलावा टीम में मेडिकल ऑफिसर, पैथोलोजिस्ट, नर्सिंग स्टाफ, फार्मासिस्ट, अटेंडर और रेड क्रॉस एमपी शाखा के कर्मचारी भी मौजूद थे. अब रेड क्रॉस हर माह इन बच्चों के स्वास्थ्य की जिम्मेदारी लेते हुए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं करेगा.
मानवता की सेवा में एक ओर कदम
इंडियन रेड क्रॉस सोसाइटी मध्य प्रदेश राज्य शाखा के चेयरमैन श्री आशुतोष पुरोहित ने बताया कि दीन दुखी और जरूरतमंद लोगों की सेवा करने के लिये इस तरह के और प्रयास किये जाएंगे. रेड क्रॉस का उद्देश्य मानवीय जिंदगी और सेहत को बचाना है. संस्था सतत् मानव सेवा के लिये प्रयासरत है. कुछ दिन पहले ही जब श्री आशुतोष पुरोहित जब कंबल वितरण के लिये जब बाल निकेतन पहुंचे थे तब उनके मन में इस शिविर को लेकर विचार आया था.
ये रहे मौजूद
शिविर में रेड क्रॉस मध्य प्रदेश के प्रबंधन समिति के सदस्य श्री सुनील काला, बाल निकेतन के अधीक्षक हरिओम शर्मा, वार्डन रेखा शर्मा सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद थे.


Contact:
Editor
ओमप्रकाश गौड़ (वरिष्ठ पत्रकार)
Mobile: +91 9926453700
Whatsapp: +91 7999619895
Email:gaur.omprakash@gmail.com
प्रकाशन
Latest Videos
phu ls lhek fookn ij ofj’B i=dkj g’kZo/kZu f=ikBh

किसान नहीं मानेंगे तो क्या करेंगे - हर्षवधन त्रिपाठी की विवेचना

Search
Leave a Comment: